Showing posts with label Interesting Facts in Hindi. Show all posts
Showing posts with label Interesting Facts in Hindi. Show all posts

Wednesday, 31 May 2017

भविष्य की शिक्षा व्यवस्था कैसी होगी? (Future Education System)

Future Education System in Hindi

Future Education System in Hindi. भविष्य की शिक्षा व्यवस्था कैसी होगी? (Future Education System)

भविष्य की शिक्षा व्यवस्था कैसी होगी?

  • अगर देखा जाए तो आज पूरी दुनिया डिजिटल होती जा रही है। अथार्त हम लोग इंटरनेट और कंप्यूटर जैसी तकनीक का इस्तेमाल ज्यादा कर रहे हैं। 
  • हर देश और देशों के सभी प्रदेश और शहर एक दूसरे से इंटरनेट के जरिए जुड़ते चले जाते हैं। इंटरनेट एक ऐसा माध्यम पता चला जा रहा है। जो आपको किसी भी प्रश्न का उत्तर कुछ सेकंड में आपको आपके सामने भी बता देता है।
  • देखा जाए तो दिन प्रतिदिन प्रदूषण बहुत तेजी से फैलता चला जा रहा है। आने वाले समय में प्रदूषण इतना ज्यादा हो जाएगा कि सभी देशों की सरकारों को पूरी तरह से पेड़ पौधों की कटाई पर रोक लगानी होंगी।
  • इसके बाद हम सभी लोगों का हर काम इंटरनेट कंप्यूटर पर होगा। 
  • यह व्यवस्था पूरी तरह से पूरे दुनिया पर लागू कर दी जाएगी। इसके बाद सारी शिक्षा व्यवस्था और कामकाज कंप्यूटर पर होंगे और सारे कंप्यूटर को एक दूसरे से जोड़ने के लिए इंटरनेट का का माध्यम अपनाया जाएगा। क्योंकि वर्तमान में कई देशों में इस चीज को अमल में लाया गया है।
  • और वह दिन दूर नहीं जब यह नियम पूरे दुनिया भर में लागू हो जाएगी। हम इंसान पर जब तक कोई मुसीबत नहीं आती। जब तक किसी प्रकार का हमें कष्ट नहीं होता है। 
  • तब तक हमें उस चीज का महत्व समझ में नहीं आता। अगर हम यह नियम अभी से पूरे दुनिया में लागू कर दे।  
  • तो सोचिए प्रदूषण पर कितना नियंत्रण अभी से हो जाएगा। यह एक अच्छी सोच है। और मैं चाहूंगा कि इस अच्छी सोच को आप अवश्य शेयर करें। और सभी लोगों तक जरूर पहुंचाएं। धन्यवाद

Monday, 29 May 2017

ब्लैक हैट हैकर (Black Hat Hacker) क्या है?

Black Hat Hacker in Hindi. ब्लैक हैट हैकर (Black Hat Hacker) क्या है? ब्लैक हैट हैकर के बारे में पूरी जानकारी.  ब्लैक हैट हैकर सिस्टम को कैसे हैक करते हैं?

ब्लैक हैट हैकर के बारे में पूरी जानकारी

आपने इंटरनेट तो काफी इस्तेमाल किया होगा और हैकर का नाम तो आपने जरूर सुना ही होगा। आज हम ऐसे हैंकर के बारे में बात करने जा रहे हैं। जिनकी पहचान इंटरनेट की दुनिया में कुछ अलग ही है। आज हम यहां बात करेंगे ब्लैक हैट हैकर के बारे में।

 ब्लैक हैट हैकर सिस्टम को कैसे हैक करते हैं?

ब्लैक हैट हैकर बिना किसी के अनुमति के किसी के भी सिस्टम पर अटैक करते हैं। और सिस्टम को नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे हैंकर सिस्टम की सिक्योरिटी तोड़ने में माहिर होते हैं। इन्हें पहले से ही पता होता है कि सिस्टम में कैसे घुसना है और क्या करना है। ब्लैक हैट हैकर्स को ऑपरेटिंग सिस्टम और इंटरनेट कनेक्शन का अच्छा नॉलेज होने की वजह से वह सिस्टम में घुसने के लिए सिस्टम में किसी न किसी प्रकार की कमी को ढूंढ ही निकालते हैं। फिर चाहे सिस्टम कितना भी स्ट्रांग क्यों ना हो। उस कमी को ढूंढ निकालने के बाद वह सिस्टम को हैक करके सिस्टम के सारा डाटा पर अपना कब्जा जमा लेते हैं।

आजकल आप अक्सर इंटरनेट पर ऐसे समाचार जरूर सुनते होंगे कि किसी हैकर ने किसी प्रचलित व्यक्ति का अकाउंट हैक कर लिया। ये हैकर वही होते है जो अपनी पहचान छुपा कर सिस्टम या किसी फेमस व्यक्ति के अकाउंट पर अटैक करते है।

Sunday, 21 May 2017

पृथ्वी के बारे में ज्यादातर पूछे गये सवाल-जवाब

पृथ्वी(Earth) से जुड़े कुछ प्रश्‍न और उत्‍तर (Some questions and answers related to Earth)

About earth in Hindi. questions and answers related to Earth in Hindi. Facts about Earth in Hindi. Interesting facts about earth.

क्या आप पृथ्वी(Earth) के बारे में ये बातें जानते है? (Do you know these things about Earth?)

1. पृथ्वी की कुल आयु कितनी है?
उत्तर: लगभग 4.54 बिलियन साल

2 . सूर्य के चारों ओर परिक्रमण के दौरान, पृथ्वी अपनी कक्षा में कितनी बार घूमती है?
उत्तर: 365 बार

3. पृथ्वी पर समुंद्र में ज्वार-भाटे क्यों आते है?
उत्तर: पृथ्वी और चंद्रमा के बीच गुरुत्वाकर्षण की वजह से

4. पृथ्वी की आतंरिक रचना के तीन प्रमुख परतों के नाम क्या है?
उत्तर: भूपटल, भूप्रावार और क्रोड

5. पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह कौन है?
उत्तर:  चंद्रमा

6. पृथ्वी की आकृति कैसी है?
उत्तर: अंडाकार

7. पृथ्वी को नीला ग्रह  क्यों कहा जाता है?
उत्तर: पानी की उपस्थिति के कारण

8. सूर्य के बाद पृथ्वी का सबसे निकट का तारा का नाम क्या है?
उत्तर: प्रॉक्सिमा सेंचुरी

9. हमारे सौर मंडल के बड़े ग्रहों में पृथ्वी का स्थान किस नंबर पर है?
उत्तर: पांचवां

10. पृथ्वी से चंद्रमा का कितना प्रतिशत भाग दिखाई देता है?
उत्तर: 57 प्रतिशत

11. कर्क रेखा किन देशो से होकर गुजरती है?
उत्तर: भारत, चीन और म्यांमार

12. साल के किस महीने में पृथ्वी सूर्य से कुछ दूर चली जाती है?
उत्तर: जुलाई में

आपको इसे भी जरूर पढ़ना चाहिए।

Saturday, 13 May 2017

क्या एलियंस सच में होते है? (Aliens in Hindi)

एलियंस: दूसरे ग्रह के प्राणी . क्या एलियंस का अस्तित्व सच है या झूठ. गवर्नमेंट UFO और एलियंस के बारे में क्या कहती है? एलियंस का  पृथ्वी से क्या संबंध है? एलियंस और अमेरिका का खुफिया संगठन .

एलियंस: दूसरे ग्रह के प्राणी (All about Aliens in Hindi)

दोस्तों, अक्सर जब भी हम एलियंस का नाम सुनते हैं। हमारे दिमाग में एक ऐसे प्राणी का चित्र बनकर आता है। जिसका जन्म पृथ्वी जैसे किसी और ग्रह पर हुआ हो। और इससे जुड़े न जाने कितने सवाल हमारे दिमाग में आ जाते हैं। जिनके बारे में हम अक्सर सोचा करते हैं।

क्या एलियंस का अस्तित्व सच है या झूठ

दुनिया में अक्सर एलियंस देखे जाने की बात आती है। और कई बार कई तरह के उड़नतश्तरियों के उड़ने की खबर आती रहती है। लेकिन इसमें कितनी सच्चाई है, और कितना झूठ इसका पुख्ता सबूत के बारे में अभी तक हमारी सरकार ने हमें नहीं बताया। इसके पीछे का क्या रहस्य है? अभी तक वह उभर कर सामने नहीं आया है। ऐसे कई सवाल है जो अक्सर हमें परेशान करती रहती है।

गवर्नमेंट UFO और एलियंस के बारे में क्या कहती है?

आखिर सरकार हमसे ऐसी कौनसी बात छुपाना चाहती है? इसके पीछे क्या वजह हो सकती है? एलियंस और यूएफओ की मानें तो यह सबसे ज्यादा अमेरिका, रशिया, ब्राजील और कुछ चुनिंदा देशों में देखे जाते हैं। कई विशेषज्ञों का कहना है कि हमारी पृथ्वी पर एलियंस का आना-जाना रहता है।  

एलियंस का पृथ्वी से क्या संबंध है?

आखिर एलियंस हमारे ग्रह पर क्यों आते हैं।  कई विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि यह एलियंस की पूर्वजों ने ही हमें बनाया है। यह टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में हम से कहीं ज्यादा विकसित हैं। इनके पास ऐसे अत्याधुनिक अंतरिक्ष यान है। जिनके माध्यम से वह सूर्य के पास भी जा सकते हैं तथा प्रकाश के वेग से एक सौर मंडल से दूसरे सौर मंडल का सफ़र बहुत ही आसानी से तय कर सकते हैं।

एलियंस और अमेरिका का खुफिया संगठन

कई लोगों का यह भी मानना है कि अमेरिका का खुफिया संगठन तथा एलियन एक साथ मिलकर कुछ ऐसे प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। जिन्हें सार्वजनिक नहीं बताया जा सकता। और यह भी माना जाता है कि एलियंस अपने टेक्नोलॉजी उस खुफिया संगठन को किसी और चीज के बदले देती है। जो उन्हें हमसे चाहिए इसी कारण शायद हम टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इतने कम समय में काफी आगे आ चुके हैं। क्या NASA इस संगठन में सामिल है? अगर देखा जाए तो टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में हम पिछले 70 सालों में इतने आगे बढ़ चुके हैं। जितना पीछे के एक हजार सालों में नहीं कर पाए है। अगर हम इसी तरह से आगे बढते रहे तो भविष्य दूर नही जब हम किसी और ग्रह पे हम मनुष्यों का बसेरा होगा।

आप एलियंस और UFO के बारे में क्या कहते है?

अगर आप ज्यादातर इंटरनेट कर इस्तेमाल करते हैं। तो आपने YouTube और न जाने कितने वेबसाइट पर यूएफओ और एलियंस के बारे में पढ़ा होगा। लेकिन हमेशा आपके मन में यह बात रह जाती है कि यह बात सच है या झूठ। लेकिन देखा जाए ऐसा कुछ ना तो कुछ जरूर मौजूद है। जो हमसे छुपाया गया रहा है। बिना किसी वजह की कोई बात नहीं फैलती और एलियंस और UFO की बात तो पूरी दुनिया में फैल चुकी है। आप इस बारे में क्या सोचते हैं? क्या यह बात सच है? या झूठ। क्या एलियंस होते हैं? या फिर सरकार द्वारा फैलाए गए एक बहुत बड़ा झूठ है? 

अवश्य पढ़े:-
  1. वर्महोल के जरिये एक सौर मण्डल से दुसरे सौर मण्डल का सफ़र सेकंडो में होगा।
  2. किसी सौर मण्डल का विनाश ब्लैक होल से कैसे होता है?
  3. एलियंस कर तीन हज़ार साल पुराना उपग्रह पाया गया। जो पृथ्वी का चक्कर लगा रहा है।
  4. भारत में UFO देखे जाने की घटना (UFO sighting in India)
  5. हमारा भविष्य टेक्नोलॉजी के फील्ड में कैसा होगा?
  6. NASA स्पेस सेण्टर के बारे में रोचक जानकारी।

Wednesday, 10 May 2017

वर्महोल (Wormhole) क्या है?

About Wormhole in Hindi. Wormhole kya hai? Wormhole kaise kaam karta hai? Wormhole mein travel kaise kiya jaata hai. वर्महोल रिसर्च (Wormhole research).

वर्महोल क्या होता है? - About Wormhole in Hindi

आपका इस वेबसाइट पर स्वागत है। आज आप यहां वार्म होल के बारे में जानेंगे कि वर्महोल के बारे में हमारे वैज्ञानिक और विशेषज्ञों का क्या कहना है? वर्महोल का क्या सिद्धांत है और ये काम कैसे करता है? वर्महोल (Wormhole) क्या है? यह जानने से पहले आपको ब्लैक होल के बारे में अवश्य पढ़ना चाहिए।

वर्महोल (Wormhole) कई ब्रह्मांड के एक छोर को दुसरे छोर को एक दूसरे से इस प्रकार जोड़ता है कि लाखों प्रकाश वर्ष की दूरी को आप चाहे तो कुछ घंटों में ही तय कर सकते हैं। अगर मैं उदाहरण देकर समझाऊं तो मैं यह कह सकता हूं कि अगर आपको किसी एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाना हो तथा दूसरा स्थान इतना दूर है कि आपको वहां तक पहुंचने में 50 साल लग सकता है। तो वर्महोल (Wormhole) के सिद्धांत के अनुसार आप इस दूरी का सफर आप मात्र 2 से 3 सेकंड में वार्म होल के जरिए पूरा कर सकते हैं।

वर्महोल रिसर्च (Wormhole research)

दुनिया भर के वैज्ञानिक वार्म होल के बारे में अन्तरिक्ष में काफी जांच पड़ताल कर रहे हैं। माना जा रहा है कि वर्महोल इतने छोटे होते हैं की इसके अन्दर  एक कड़ भी नहीं जा सकता। इसलिए वैज्ञानिक इस पर शोध कर रहे हैं कि वर्महोल (Wormhole) को ढूँढ कर उसको कुछ इस प्रकार से इतना बड़ा बनाया जाए। जिसके माध्यम से हम अंतरिक्ष में कुछ नई चीजों का अध्ययन कर सके तथा ब्रह्मांड में छुपे उन रहस्यों को जान सके तो आज तक हम नहीं जान पाए हैं।

कई वैज्ञानिकों का यह मानना है कि वार्म होल बनाना नामुमकिन है क्योंकि वर्गमूल बनाने के लिए हमें इतनी ज्यादा मात्रा में उर्जा चाहिए कि हम उतनी उर्जा को उत्पन्न नहीं कर सकते। वर्तमान समय में अगर पूरी दुनिया का उर्जा एक साथ लगा भी दिया जाए तो भी हम वॉर्म होल नहीं बना सकते। 

About Wormhole in Hindi. Wormhole kya hai? Wormhole kaise kaam karta hai? Wormhole mein travel kaise kiya jaata hai. वर्महोल रिसर्च (Wormhole research).

वैज्ञानिकों का मानना है कि वर्महोल (Wormhole) बनाने के लिए हमें एक पूरे सूर्य जितनी ऊर्जा चाहिए। इसलिए इतनी उर्जा का उत्पन्न करना वर्तमान में तो संभव नहीं है। लेकिन हो सकता है भविष्य में हम तकनीक के क्षेत्र में इतने आगे बढ़ जाए कि हम उतनी ऊर्जा का उत्पादन कर सके। क्योंकि इस दुनिया में कोई भी चीज असंभव नहीं है।

तकनीक के क्षेत्र में बड़ा कदम

आज के समय में हम जो भी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं। अगर सौ साल पहले उसकी कल्पना अगर कोई करता। तो लोग आपको पागल कहते और आप को डांट कर भगा देते। अगर आप फ़ोन के बारे में बात करते तो लोग आपको ये कहते कि तुम क्या बकवास कर रहे हो हजारों किलोमीटर दूर व्यक्ति एक दूसरे से कैसे बात कर सकता है? लेकिन आज के समय में देखा जाए तो यह एक आम बात है। 

उसी प्रकार धीरे-धीरे हम न जाने टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इतनी आगे बढ़ चुके हैं कि आज हमारे पास हवाई जहाज है, मोबाइल फोन है, टेलीविजन है, मोटर गाड़ी इत्यादि है। इसलिए यह कहना गलत होगा कि आज जो हमारी कल्पना है वो गलत है।  हम आगे चलकर टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में वह काम कर सकते हैं जो आज के समय में भले ही असंभव है।

वर्महोल (Wormhole) की जानकारी कैसी लगी?

आपको यह जानकारी कैसी लगी कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताइए। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों और अपने परिवार के लोगों के साथ जरूर शेयर करिए। आशा करता हूं कि मैं आगे भी इसी तरह के जानकारी आपके साथ शेयर करूंगा।

Sunday, 7 May 2017

ब्लैक होल क्या है? (About Black Hole in Hindi)

what is inside a black hole  how are black holes formed  black hole facts  black hole actual image  what happens inside a black hole  black hole video  black hole nasa  who discovered black holes black hole in hindi video  black hole hindi movie  what is black hole in hindi youtube  black hole hindi novel  the black hole movie in hindi watch online  black hole in english  black hole kya hai in hindi  black hole theory video

आज आप यहां पर ब्लैक होल के बारे में जानेंगे। आखिर ब्लैक होल क्या है और उसके क्या सिद्धांत है। हालांकि देखा जाए तो ब्लैक होल का विषय इतना तेजी से फैलता जा रहा है कि लोग इसके बारे में काफी रुचि ले रहे हैं। आज यहां पर हम जानेंगे कि ब्लैक होल कैसे बनता है और इसके बारे में कई विशेषज्ञों का क्या कहना है। तो चलिए शुरू करते हैं।

क्या ब्लैक होल एक काल्पनिक सोच है?

सबसे पहले बात आती है कि ब्लैक होल क्या असलियत में किसी ने देखा है, या फिर यह एक काल्पनिक सोच है। अगर बात करें ब्लैक होल की तो विभिन्न विशेषज्ञों और साइंटिस्टों द्वारा शोध किया गया एक काल्पनिक सिधांत है। जो मात्र एक कल्पना के अलावा और कुछ नहीं  है। अर्थात अभी तक यह सिद्ध नहीं हो पाया है कि यह वाकई में अंतरिक्ष में ब्लैक होल की घटना घटित होती है भी या नहीं। ब्लैक होल के विषय में विभिन्न वैज्ञानिकों का अपना सिद्धांत है। लेकिन कुछ ऐसे सिद्धांत है जो सभी विशेषज्ञों के सिद्धांतों से मेल खाते हैं।

ब्लैक होल का गुरुत्वाकर्षण बल क्यों ज्यादा होता है?

विशेषज्ञों का कहना है जब भी कोई तारा नष्ट होता है। तो वह ब्लैक होल की रचना करता है। जिसका गुरुत्वाकर्षण बल इतना अधिक होता है कि आसपास के सभी नजदीकी ग्रहों को अपनी तरफ खींच कर अपने आप में समाहित कर लेता है। इसका कारण उसका घनत्व है।


ब्लैक होल में जाने वाली प्रकाश वापस क्यों नही आती?

कई विशेषज्ञों यह भी कहना है कि ब्लैक होल में गई रोशनी वापस नहीं आती। क्योंकि हम यह बात जानते हैं कि जो रोशनी किसी वस्तु से टकराकर हमारे आँख पर वापस आती है तभी वह वस्तु हमें दिखाई देती है। लेकिन ब्लैक होल का सिद्धांत बहुत ही अजीब है। ब्लैक होल में जाने वाली कितनी भी शक्तिशाली प्रकाश वापस लौट कर नहीं आती।

ब्लैक होल में जाने पर क्या होगा?

कई वैज्ञानिकों का यह कहना है कि ब्लैक होल में अगर आप गिर जाते हैं। तो आपके लिए समय रुक जाता है अर्थात अगर आपकी उम्र मात्र 25 साल हो और आप ब्लैक होल में गिर जाते हैं। तो 50 साल बाद जब आप  ब्लैक होल से बाहर आएंगे तब भी आपकी उम्र 25 साल जितनी होगी। बल्कि औरों के लिए आप की उम्र 75 साल होगी। और बाकी लोगों कि उम्र पचास वर्ष ज्यादा होगी आपके उम्र के तुलना में।

what is inside a black hole  how are black holes formed  black hole facts  black hole actual image  what happens inside a black hole  black hole video  black hole nasa  who discovered black holes black hole in hindi video  black hole hindi movie  what is black hole in hindi youtube  black hole hindi novel  the black hole movie in hindi watch online  black hole in english  black hole kya hai in hindi  black hole theory video

ब्लैक होल की रचना कैसे होती है?

अगर हम उदाहरण के तौर पर बात करें तो जो हमारा सूर्य है और उसके चारों ओर कई ग्रह परिक्रमा कर रहे हैं। जैसे पृथ्वी, मंगल, बुध ग्रह आदि। अगर किसी कारणवश अगर हमारा सूर्य नष्ट होता है। एक ऐसा ब्लैक होल कि उत्पत्ति होगी। जो हमारे सौर मंडल के सभी करीबी ग्रहों को अपने अंदर खींच लेगा और अपने आप में समाहित कर लेगा। फिर कई अरबो खरबो साल बाद फिर से एक नई प्रक्रिया शुरु होगी और वह प्रक्रिया के कारण। फिर से नया सूर्य तथा नए ग्रहों का रचना होगा और ये प्रक्रिया चलती रहेगी।

ब्लैक होल से जुड़ी यह जानकारी आपको कैसी लगी?

कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में बताइए। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी। तो कृपया इसको शेयर करिए और अपने दोस्तों को तथा अपने परिवार के लोगों को उसके बारे में जरूर बताइए। मेरी यही कोशिश रहेगी कि आगे भी इसी तरह के नई जानकारियां मैं आपके लिए ले कर आता रहूं।